कंप्यूटर (Computer) क्या है? कंप्यूटर कि जानकारी

1

नमस्कार दोस्तों, KareKaise.in कि पहली पोस्ट में आपका स्वागत है. आज हम आप लोगो को कंप्यूटर (Computer) के बारे में बताने वाले है। आज के युग में कंप्यूटर हर काम को आसान करने और फ़ास्ट तरीके से काम करने के लिए जरुरी बन चूका है। बात चाहे ऑफिस वर्क, business कि हो या घर कि हर जगह कंप्यूटर अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. इसलिए आज मैं आपको कंप्यूटर क्या होता है, कंप्यूटर कैसे काम करता है, कंप्यूटर कि खोज किसने करी थी, कंप्यूटर का full form (पूरा नाम) क्या है और कंप्यूटर कैसे काम करता है.

computer-kya-hai-hindi-me-jankari

यानि कि कंप्यूटर कि पूरी जानकारी शेयर करने वाला हूँ। अगर कोई व्यक्ति कंप्यूटर के बारे में नहीं भी जनता है तो भी उसे कंप्यूटर कि पूरी जानकारी मिल जाएगी।

Computer से क्या आशय है?

आप लोग यह तो जानते ही है कि बढ़ती हुयी जनसंख्या के डाटा या जानकारी को सहेज कर रखना एक बहुत बड़ी समस्या है और इस तरीके के डाटा को सहेज (save) कर रखने में computer हमारी बहुत बड़ी मदद करता है। लेकिन इसके पहले हमारे लिए यह जानना भी बहुत जरुरी है कि कंप्यूटर किस आधार पर और कैसे काम करता है? Microsoft dictionary के अनुसार computer से क्या आशय है ?

कोई भी machine जो कि ३ तरह के काम करती है. पहला -इनपुट लेती है दूसरा पूर्व निर्धारित नियमो के अनुसार उसे process करती है और हमे स्पष्ट output देती है कंप्यूटर कहलाता है.

कंप्यूटर का अविष्कार “Charles Babage” ने 1837 में किया था.

Computer कि परिभाषा क्या है? Definition Of Computer in Hindi. 

computer शब्द लैटिन भाषा के शब्द “comput” से बना है. जिसका अर्थ कैलकुलेशन (गणना) करना होता है. दुसरे शब्दों में, computer एक advance इलेक्ट्रॉनिक machine है जो यूजर से डाटा को Input के रूप में लेता है और उस पर किसी program के तहत processing करके एक नियमित Output (रिजल्ट) प्रदान करता है और उसे future के लिए save करके अपने पास रखता है. कंप्यूटर डाटा को process करके चाहे गए परिणाम देने कि क्षमता रखता है. चाहे वह परिणाम कितने भी बड़े या छोटे हो. कंप्यूटर अपने काम को ३ स्टेप्स में पूरा करता है।

input datafrom user
process dataprocessing on data
OutputResult

Input, Process, Output क्या होता है?

  1. computer में आदेश के रूप में दिए जाने वाले डाटा को इनपुट कहते है. डाटा fact (तथ्यों) का समूह होता है जो शब्दों. अंको, चित्र आदि हो सकते है.
  2. Process, यह पहले से निर्धारित गणितीय तथा तार्किक निर्देशों के समूह होता है जिन्हें program कहा जाता है को कहते है. computer, user के द्वारा चाहे गए निर्देशों के परिणाम को output के रूप में प्रदान करने के लिए जो काम करता है उसे process कहते है. अथवा एक process किसी कंप्यूटर program का वो क्षण होता है जिसमे लिए
    गए इनपुट को output में बदला जाता है.
  3. Data, डाटा को process करने के बाद प्रदान किया गया परिणाम अथवा इनफार्मेशन कहलाता है. इनफार्मेशन कुछ और नहीं बल्कि process द्वारा किसी उपयोगी रूप में परिवर्तित किया गया डाटा होता है.
computer-input-output-process-system-in-hindi

Computer का पूरा नाम (full form) क्या है?

अगर वास्तविक्ता में देखा जाये तो हम कंप्यूटर को कुछ शब्दों में सिमित नहीं कर सकते है. क्योंकि यह इसके नाम से बढ़ कर काम करता है फिर भी इसे विशेषयज्ञो द्वारा कुछ अलग-अलग नामो से जाना जाता है. हमने यहाँ पर कंप्यूटर का पूरा नाम बताये है जिसे कई बुक और इन्टरनेट पर उयोग में लाया जाता है.

FULL FORM OF COMPUTER

C – Commonly

O – Operated

M – Marchine

P – Particularly

U – Used for

T – Technical

E – Education and

R – Research

Computer कि विशेषता क्या है?

जो व्यक्ति कंप्यूटर के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानते होंगे वो यह सोचते होंगे कि कंप्यूटर में ऐसी क्या खास बात है जो इसे इंसान के मुकाबले में अधिक बेहतर माना जाता है. तो चलिए जानते है कि ऐसी क्या खास बाते है जो कंप्यूटर को इतना विशेष और महत्वपुर्ण बनाती है.

Speed ( गति ) : –  कंप्यूटर बहुत अधिक स्पीड से काम करता है और आज के कंप्यूटर system एक सेकंड्स में करोड़ो निर्देशों को क्रियान्वित कर सकता है. कंप्यूटर कि गति को नापने कि इकाई (unit) Gigahertz है इसे शोर्ट में GHZ लिखा जाता है.

Accuracy (शुद्धता) : – कंप्यूटर सिर्फ स्पीड के लिए ही नहीं जाना जाता है बल्कि सटीकता के लिए भी माना जाता है और कंप्यूटर कि सटीकता कि डिग्री बहुत अधिक है. कंप्यूटर पर प्रत्येक कैलकुलेशन (गणना) सटीकता से किया जाता है. कंप्यूटर में त्रुटी (error) कि सम्भावना न के बराबर होती है.

Diligence (परिश्रम) : – कंप्यूटर थकान, एकाग्रता कि कमी आदि से मुक्त होता है यह किसी तरह कि गलती किये बिना घंटो या कई दिनों के लिए लगातार काम कर सकता है वो भी सटीकता के साथ में.

Versatility (बहुमुखी प्रतिभा) : –  कंप्यूटर कई सारे कामो को करने के लिए सक्षम है. उदाहरण- हम एक ही टाइम पर song भी सुन सकते है, अपना एकाउंटिंग वर्क भी कर सकते है और बैकग्राउंड में कुछ दुसरे process को भी पूरा कर सकते है.

Storage ( संग्रहण क्षमता ) : – कंप्यूटर में डाटा को एक बहुत बड़ी मात्रा में स्टोर या सहेज कर रखा जा सकता है और जरुरत पड़ने पर तुरंत उसे रिकॉल करके उपयोग में भी लाया जा सकता है. आवश्यकता पड़ने पर हम कंप्यूटर कि संग्रहण क्षमता को बड़ा भी सकते है.

Computer का वर्गीकरण |Classification of Computer हिंदी में|

कंप्यूटर के काम करने कि क्षमता और उसके साइज़ के आधार पर कंप्यूटर को २ भागो में बाटा जा सकता है.

Based On Size

  • Micro Computer
  • Mini Computer
  • Mainframe Computer
  • Super Computer

Electronic Computer

  • Analog Computer
  • Digital Computer
  • Hybrid Compuer

इस पोस्ट में कंप्यूटर कि बेसिक जानकारी के बारे में बस इतना ही अगली पोस्ट में हम computer के बारे में और भी कई साडी चीजे डिटेल से बताएँगे. आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी है तो इसे social media पर share जरुर करे.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here